अच्छा लहसुन खाने के फायदे और नुकसान इन हिंदी | Achchha Lahasun Khaane Ke Fayde Aur Nukasaan.

अच्छा लहसुन खाने के फायदे अचार एवं लहसुन खाने के नुकसान को जाने इस अलावा लहसुन खाने से क्या फायदा और क्या नुकसान है In Hindi.


हमारे देश के वैज्ञानिक को अब यह मालूम हो चुका है की लहसुन की एक कली को मुंह में कुचलने या चबा कर खाने से तैयार होने वाला सल्फर यौगिकों से अधिकांश ज्यादा स्वास्थ्य फायदे होते हैं। और भी अन्य योगिक है लहसुन के जो स्वास्थ्य फायदे में भूमिका निभा सकने योग्य है। उनमें से दो है डायलील डाइसल्फ़ाइड  एवं एस. एलिल सिस्टीन । लहसुन खाने से सल्फर योगिक पाचन तंत्र के द्वारा शरीर कोशिकाओं तक प्रवेश करता है और पूरे कोशिकाओं में भ्रमण करने के बाद शक्तिशाली जैविक प्रभाव को प्रदर्शित कर डालता है।



देखा जाए तो लहसुन प्याज के परिवार का एक पौधे का हिस्सा है एवं लहसुन प्याज का काफी नजदीकी संबंध है। लहसुन के पोथी मे उपलब्ध दाने को लॉन्ग कहा जा जाने योग्य है, क्योंकि यह लॉन्ग के समान दिखने में होता है। एक बीच साइज के एक कली लहसुन मे दस से 20 दाने लौंग सा मौजूद होते हैं। हम यह जानकर आश्चर्य हैं कि आप अभी तक सौंफ को खाने के फायदे इस तरीके के बारे में मालूम नहीं हुआ होगा जानकरी जरूर पढ़ि‍ए। इसी प्रकार लहसुन खाने के फायदे के संबंध में पुराने परंपरा से अच्छा लहसुन खाने के नुकसान भी आप सभी को जानना हिंदी में बहुत जरूरी है। क्या लहसुन खाने के फायदे सुबह खाली पेट के अलावा कच्चे लहसुन खाने के फायदे सोशल मीडिया और वीडियो ने यह जानकारी बहुत सारे लोगों ने बताया है । लेकिन यहां पर आपको लहसुन की कली खाने के फायदे बताइए है और इनके संबंधित और भी जैसे लहसुन का अचार खाने के फायदे भी दर्शाए गए।



वेजिटेरियन के अंतर्गत आने वाले लहसुन पोथी भारत के कई देशों में इसकी खेती और उपज की जाती है। लहसुन अक्सर उत्तर प्रदेश, गुजरात एवं आंध्र प्रदेश ऐसे इलाकों में जिसकी उपजाऊ भरपूर मात्रा में की जाती है, स्वाद और स्वास्थ्य एवं होम्योपैथिक दवाई में उपयोग करने के लिए और अन्य पदार्थों की फायदे और लाभ के लिए भी उगाया जाता है। लहसुन में सल्फर योगिक होने के कारण माना जाता है कि इसके कुछ स्वास्थ फायदे प्राप्त होते हैं। लहसुन खाने का तरीका दुनिया भर से अलग अलग देश एवं राज्य में उपस्थित लोग अपनाते हैं।क्योंकि इनके तेज गंध और भोजन के स्वादिष्ट स्वाद बढ़ाने और पकाने में एक लोकप्रिय पदार्थ है।



कितने हि लोगों को यह अवश्य मालूम होना जरूरत होगा की पुरुषों को लहसुन खाने के फायदे कितने सारे होते हैं। पुराने लोगों के अनुसार लहसुन का मुख्य उपयोग और इस्तेमाल स्वास्थ्य और औषधीय गुणों के लिए बहुत महत्वपूर्ण योगदान है। माना जाता है कि कई सालों से लोग भुना हुआ लहसुन खाने के उपयोग मे ला रहे हैं। इनके अतिरिक्त लहसुन में उपस्थित विटामिन मौजूद गुण हमें काफी लाभ प्रधान करता है। हम आपको यह भी बताएंगे कि लहसुन खाने के फायदे रात में कितने होते हैं।


लहसुन एक प्रकार से अत्याधिक पौष्टिक आहार का पदार्थ है। परंतु इनमें मौजूद कैलोरी बहुत कम मात्रा में होती है। कच्चे लहसुन को खाने योग में लाने के लिए एक दाने का बेट मिनिमम 3 ग्राम होता है। जिस में मौजूद कैलोरी कुछ इस प्रकार होते हैं.


विटामिन बी6: डीवी का 2 प्रतिशत 

विटामिन सी: डीवी का 1 प्रतिशत 

सेलेनियम: डीवी का 1 प्रतिशत 

फाइबर:  लगभग 0.06 ग्राम


कॉपर, आयरन, पोटेशियम, फास्फोरस एवं कैल्शियम और विटामिन बी की मात्रा प्रचुर होती है। लहसुन में और भी कई सारे अत्यधिक पोषक तत्व की कैल्शियम मौजूद होता है, लेकिन इनमें आपके शरीर के स्वास्थ्य फायदे पहुंचाने के लिए लगभग हर चीज थोड़ा थोड़ा सा हिस्सा मौजूद होता है। 



सेहत और स्वाद के लिए अच्छा लहसुन खाने के फायदे ।



  • लहसुन खाने से हमें बहुत सारी बीमारियां से बचाता है और कच्चा लहसुन बहुत सारे बीमारियों में जल्द रिकवर भी देता है। यह होम्योपैथिक मेडिसिन के रूप में बहुत ही अच्छा फायदे पहुंचाने वाला होम्योपैथिक दवा है। यह एंटीकैंसर रस मे अच्छा फायदा पहुंचाता है। फ्लू एवं सामान्य सर्दी की रोग तथा बीमारियों के गंभीरता को कम और रोकने में मदद करता है।

  • बात करें लहसुन के कैप्सूल के फायदे के बारे, दोस्तों आपके हार्ड अतं दिल हिर्दय रोग मे कच्चे लहसुन खाने मे आपके सर्कुलेटिंग सिस्टम ब्लड से रिलेटेड रोग के अंदर में बहुत अच्छे और असरदार जल्दी रिजल्ट देता है। खासकर वे लोगों की बात करें जिनके High Cholesterol की प्रॉब्लम और Hart blocking की प्रॉब्लम के अलावा हाई ब्लड प्रेशर जैसों से पीड़ित होकर सामना कर रहे हैं, इन सभी में अच्छा लहसुन खाने का स्वास्थ्य लाभ बहुत मिलता है।

  • एक कली लहसुन का एक दाना शरीर में उपस्थित कोलेस्ट्रोल स्तर सुधार के लिए लाभ देने के साथ हृदय रोग मे पनप रहे जोखिम को नॉर्मल कर देने के लिए फायदा होते हैं। शाम को लहसुन खाने पर कुल और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल कम हो जाते हैं। लहसुन की खुराक से उच्च कोलेस्ट्रॉल के लोग को 10 से 15 % तक घटा देता है। लहसुन का सेवन से ट्राइग्लिसराइड का स्तर पर किसी तरीके की प्रभाव नहीं पड़ता है।


  • अंकुरित लहसुन खाने के खुराक में लेने से वृद्ध शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। लहसुन के अंदर स्ट्रोंग एंटी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टी यानी Anti Aging Property के मौजूद होने से वृद्ध शरीर वाले लोग द्वारा खाने से बुढ़ापा कमजोर अंग और हृदय रोग एवं समय से पहले शरीर बुढ़ापे के समान कार्य करने लग रहा है तो ऐसे में लहसुन खाना उचित फायदा होता है।


  • सर्दियों के मौसम में लंबे सफर पर जाते समय पहाड़ी इलाकों में जोर की सर्दी लगती है, इस तरह के सिचुएशन में लहसुन का अचार खाने के अलावा लहसुन के छोटे दाने को छीलकर पानी के साथ या घी और लहसुन खाने से जोर की सर्दी एवं ठंड से बचने के लिए बहुत ही अच्छा फायदा देता है। यह आपके शरीर में गर्मी को उत्पन्न करने का कार्य करता है, जिससे आपको ठंड कम महसूस होने लगता है।


  • मसालेदार लहसुन रक्त वाहिकाओं को सख्त होने से रोक सकता है, घनास्त्रता को रोक सकता है और रक्त परिसंचरण को सुचारू बनाने में मदद कर सकता है।

  • एलिसिन इंसुलिन स्राव को बढ़ावा दे सकता है, ताकि कोशिकाएं ग्लूकोज को प्रभावी ढंग से अवशोषित और उपयोग कर सकें, रक्त शर्करा को कम कर सकें, और शरीर में निरंतर रक्त शर्करा एकाग्रता बनाए रख सकें।

  • लहसुन इंसुलिन के स्राव को भी बढ़ावा दे सकता है, मानव कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज के अवशोषण और उपयोग को बढ़ा सकता है, और रक्त शर्करा को कम करने और रक्त शर्करा की स्थिरता बनाए रखने के प्रभावों को प्राप्त कर सकता है। यह मधुमेह रोगियों के लिए उपयुक्त है। इसके अलावा, लहसुन प्रोटीन, विटामिन और खनिजों में भी समृद्ध है, थकान को खत्म कर सकता है, प्रतिरक्षा प्रणाली की बहाली कर सकता है , इसे एक दीर्घायु स्वास्थ्य उत्पाद संत माना जाता है।

  • हर दिन कच्चा लहसुन खाने से एलर्जी की प्रतिक्रिया भी कम हो सकती है, खासकर अगर आप तापमान में बदलाव के कारण होने वाली एलर्जी के मौसम से कुछ हफ्ते पहले कच्चा लहसुन खाना शुरू कर देते हैं।



हेल्थ से संबंधित स्वास्थ्य के लिए लहसुन खाने के नुकसान को बेहतर से जानिए. 




  1. खाली पेट यदि आप लहसुन खाते हैं इससे आपकी  गैस्ट्रिक एसिड के स्राव को बढ़ सकता है एवं कैप्साइसिन का उत्तेजक प्रभाव हो सकता है। एक कली लहसुन खाने से टिनिटस, बहरापन आदि जैसे लक्षण हो सकते हैं। इसलिए, नेत्र रोगों के रोगियों के लिए, कोशिश करें कि लहसुन कम खाएं या न खाएं।

  2. जिगर की बीमारी वाले लोगों को अधिक मात्रा में लहसुन नहीं खाना चाहिए, जिससे जिगर की शिथिलता हो सकती है। हालांकि लहसुन का जिगर पर सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है, लहसुन का हेपेटाइटिस वायरस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इसके बजाय, यह पेट और आंतों को उत्तेजित करेगा, स्राव को रोकेगा पाचक रस, और इसे बढ़ा देते हैं।

  3. अदरक और लहसुन खाने के अधिक सेवन से आंखों की रोशनी पर असर पड़ता है। चीनी दवा का मानना ​​​​है कि बड़ी मात्रा में लहसुन का लंबे समय तक सेवन "जिगर और आंखों को नुकसान पहुंचाएगा", इसलिए आंखों के रोगों के रोगियों को लहसुन खाते समय सावधान रहना चाहिए। विशेष रूप से खराब स्वास्थ्य और कमजोर क्यूई और रक्त वाले रोगियों को अधिक ध्यान देना चाहिए, अन्यथा वे समय के साथ दृष्टि हानि, टिनिटस, शीर्ष-भारी और स्मृति हानि से पीड़ित होंगे।


पोस्ट लेखक : प्रवीण कुमार 
पोस्ट पब्लिशर : मोमेंट मेहरा

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं

  1. To insert a code use <i rel="pre">code_here</i>
  2. To insert a quote use <b rel="quote">your_qoute</b>
  3. To insert a picture use <i rel="image">url_image_here</i>
गलत शब्दों वाले Comments नहीं करें ।