-->
-------🔥New Information.👇-------

पतंजलि अनिद्रा की दवा और आयुर्वेदिक दवा ।

नींद ना आने या नींद लाने के लिए यदि आप कई सारे मेडिसिन गोली या टेबलेट का उपयोग कर चुके हैं। तो यहां मैं आपको तुरंत नींद आने की दवा पतंजलि के बारे पुरा पङे ।

एलर्जी की अंग्रेजी दवा का नाम और एलर्जी की दवा पतंजलि मे | Allergy Ki Angreji Dava Aur Patanjali Allergy Ki Dava.

बताए है एलर्जी की, अंग्रेजी दवा , टेबलेट, मेडिसिन और एलर्जी की दवा पतंजलि मे यदि आप skin एलर्जी की अंग्रेजी दवा एवं एलर्जी की कौन सी दवा है की जानकारी
एलर्जी की अंग्रेजी दवा का नाम और एलर्जी की दवा पतंजलि मे

एलर्जी की जांच जरूर करवाना चाहिए आप लोगों को लेकिन फिर भी आज मैं आपको हिंदी में एलर्जी की अंग्रेजी दवा का नाम और एलर्जी की दवा पतंजलि के साथ में एलर्जी की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि की जबरदस्त दवाई के बारे में बताने वाला तो यदि आप अभी skin एलर्जी की अंग्रेजी दवा के संबंध में इंफॉर्मेशन पाना चाह रहे हैं। या जानना चाहते हैं तो ध्यान से पढ़िए इस एलर्जी की आयुर्वेदिक दवा patanjali स्वामी रामदेव की दवा के बारे में। जिसमें मैं आपको अधिक बेहतर तरीके से आपके सभी सवालों के जवाब की, दवा बताएं है।



हिंदी में मोबाइल यूज करने वाले काफी सारे लोगों का सवाल रहता है, कि स्किन एलर्जी बेस्ट क्रीम नाम क्या है? एलर्जी का दवा क्या है? एलर्जी के लिए सबसे अच्छी दवा कौन सी है? एलर्जी खुजली की दवा का नाम बताएं? एलर्जी की दवा बताऐ? एलर्जी की आयुर्वेदिक मेडिसिन क्या है? एलर्जी की टेबलेट बताएं? एलर्जी की आयुर्वेदिक मेडिसिन? एलर्जी की कौन सी गोली आती है? इत्यादि तो आप बेफिक्र हो जाइए आखिर क्यों क्योंकि यहां आपको इस तरीके की सभी सवालों के जवाब और इनसे संबंधित सवाल के जवाब बताने वाला। जिसे ध्यान पूर्वक आप पढ़ेंगे तो एलर्जी को जड़ से खत्म करना बहुत आसान होगा और यहां आपको पूरी जानकारी प्राप्त होगी आइए जानते हैं।


दोस्तों बहुत ही इंपॉर्टेंट और सेंसिटिव पार्ट होता है। हमारे शरीर की स्कीन थोड़ी सी ही लापरवाही से एलर्जी डेवलप हो जाता है।  हम सभी के शरीर में जो देखने में लाल-लाल चिते और छोटे छोटे दाने के साथ चुनचुनाहट और खुजली होना शुरू हो जाता है। जिस कारण इस तरीके की एलर्जी यदि आपके शरीर में अधिक दिनों तक रहता है। तो यह आपके शरीर की चमड़ी या कहे तो त्वचा को खूबसूरती से इफेक्ट कर देता है। कई लोग  तरह तरह की एलर्जी के शिकार होने के बाद उनका कॉन्फिडेंस लेवल भी माइनस में चला जाता है। जिस वजह से वह सभी लोग क्या करें और क्या नहीं करें इस एलर्जी को दूर करने के लिए यही सोचते रहते हैं। 

इन सभी कारणों और परेशानी वाली इस एलर्जी की बीमारी के बारे में वह सभी जानकारी की एलर्जी कैसे होता है? एलर्जी, कितने प्रकार का होता है? किन-किन चीजों से होता है? एलर्जी के लक्षण क्या होते हैं? इसे ठीक करने, की मेडिसिन का नाम क्या है। तो आइए हिंदी में सभी जानकारी व स्टेप बाय स्टेप जानते हैं।


एलर्जी किसे कहते हैं और कैसी होती है?



एलर्जी प्रतिरक्षण का एक महत्वपूर्ण साइड इफेक्ट है। किसी एंटीजन या पर्यावरणीय पदार्थ के प्रति प्रतिरक्षा तंत्र की अति क्रियाशीलता एलर्जी या एलर्जन कहलाता है। एलर्जी किसी भी खाने-पीने वाले पदार्थ का अधिक मात्रा में सेवन करने से हो सकता है। इनके द्वारा उत्पन्न एलर्जी स्थानीय एलर्जी होती है। कई एलर्जी की अधिक तीव्रता के कारण मानव जीवन को बहुत बड़ा नुकसान पहुंच जाता है।


एक्सपायरी और विषैले पदार्थ से उत्पन्न हुए इंफेक्शन, साइड इफेक्ट जो एक एलर्जी की रूप ले लेता है। गोल लाल चिते के जैसा और खुजली वाले छोटे दाने से चलकर पूरी स्क्रीन पर फैलते हुए स्क्रीन की चमड़ी को लाल और काला रंग में बदल कर छोटे-छोटे कीड़े को पनपने देता है। जो दिखने में सड़े हुए ब्रेड में लगी फफूंदी के सामान होता है। एक ही स्थान पर बार-बार नोचनी और खुजली को उत्पन्न करता है तो समझ जाइए कि यह एक तरह का एलर्जी है।



एलर्जी किन-किन चीजों से होती है।



एलर्जी कई सारे उपयोग उत्पाद पदार्थ से उत्पन्न होते हैं। एक ही विटामिन की अधिक मात्रा में सेवन करने के साथ में पैकिंग प्रोडक्ट पर लिखे डेट एक्सपायरी होने के बावजूद यूज करने के अलावा हाई पावर की टेबलेट, मेडिसिन, गोली और इंजेक्शन कि इस्तेमाल होने की वजह से स्किन एलर्जी उत्पन्न होने की खतरा होता है। इनके अतिरिक्त ब्लड की गर्मी ग्रोथ होने के बाद स्क्रीन की चमड़ी पर खुजली नुमा एलर्जी हो जाता है।



एलर्जी कितने प्रकार की होती है। 


डस्ट एलर्जी. 

लेटेक्स एलर्जी. 

अस्थमा एलर्जी. 

स्किन एलर्जी. 

आई एलर्जी. 

Nose एलर्जी. 


एलर्जी अस्थमा के लक्षण और पहचान। 



नाक से बार-बार पानी आना. 

छिक का उत्पन्न होते रहना. 

नाक बंद हो जाना. 

आंखों में जलन होना. 

आंखों में पानी आना. 

गले से बलगम आना. 

सांस की नली जाम हो जाना. 

छाती में जकड़न महसूस होना. 

खासने के साथ मे सांस लेने में प्रॉब्लम बन्ना. 

यह सभी कुछ लक्षण होते हैं, अस्थमा एलर्जी के यदि आपके फैमिली मेंबर में किन्ही को इस तरह की गंभीर बीमारियां अधिक भर आता है। तो उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा अच्छी अस्थमा का इलाज करवाना आपके लिए उचित होगा।


एलर्जी में क्या नहीं खाना, पीना चाहिए । 


मिल्क से बना प्रोडक्ट. 

खट्टे प्राकृतिक और मानव निर्मित पदार्थ. 

साउथ इंडियन फूड्स. 

बीज नुमा सब्जी का आहार. 

मूंगफली के दाने और मूंगफली तेल. 

नॉन वेजिटेरियन फूड्स. 

यदि आपको किसी भी तरह का एलर्जी शरीर की बॉडी में होता है। तो आप इस प्रकार के आहार का सेवन करना अगले 7 दिनों तक रोक दें। इसके बाद आप धीरे-धीरे थोड़ी-थोड़ी मात्रा में इन सभी का सेवन करें। इससे आपको ज्यादा एलर्जी इंफेक्शन होने के चांसेस नहीं होंगे।


एलर्जी की अंग्रेजी दवा का नाम। ( Allergy Ki Angreji Dava In Hindi. )



एलर्जी इंफेक्शन एंड रिएक्शन के लिए सबसे अच्छी अंग्रेजी दवा Loratadine, Levocetirizine, Fexofenadine, Desloratadine, Avil और Cetirizine जोकि विभिन्न प्रकार की एलर्जी के लिए यूज में लिया जाता है इनमें से सर्वश्रेष्ठ पॉपुलर मेडिसिन Avil दवाई है। जिसका उपयोग नॉर्मल एलर्जी वाले स्थिति में ज्यादातर सेवन किया जाता है। आप में से हर किसी को अपने घरेलू मेडिसिन बॉक्स में इस टैबलेट को रखना चाहिए।


एलर्जी की दवा पतंजलि स्किन एलर्जी दवा पतंजलि मे । ( Patanjali Allergy Ki Dava In Hindi.)



नोचनी और खुजली ऐसी एलर्जी से मुक्ति पाने के लिए स्वामी रामदेव की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि सौंदर्य एलोवेरा जेल को स्किन एलर्जी के स्थान पर मालिश मसाज या लगाने से स्किन एलर्जी की प्रॉब्लम से तुरंत आराम मिलता है। पतंजलि कायाकल्प वटी, गिलोय धनवटी और  नीम वटी की एक एक गोली सुबह शाम खाने से भी शरीर की एलर्जी ठीक हो जाता है। खाने के बाद पतंजलि महामंजिष्ठादि सिरप को पी लेने से आपकी बॉडी के स्किन की एलर्जी हंड्रेड परसेंट अच्छी हो जाएगी। 

इनके मुताबिक खाने में आप को सेंधा नमक का कुछ दिन सेवन करना होगा।


जैसा कि मैंने आपको भी हिंदी की जानकारी में एलर्जी से होने वाली सभी जानकारी को प्रदान कर चुका हूं। आप सभी से इतना ही अनुरोध होगा, कि यदि आपको किसी और वजह से इन्फेक्शन या अन्य विभिन्न बीमारियों की वजह से एलर्जी उत्पन्न हुआ है तो डॉक्टरी सलाह लेकर ही किसी दवाई या मेडिसिन जब किसी भी तरह का एलर्जी की दवा का उपयोग करें। 

पोस्ट लेखक : मनोज
पोस्ट पब्लिशर : मोमेंट मेहरा

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं

  1. To insert a code use <i rel="pre">code_here</i>
  2. To insert a quote use <b rel="quote">your_qoute</b>
  3. To insert a picture use <i rel="image">url_image_here</i>
गलत शब्दों वाले Comments नहीं करें ।