-->

karva chauth 2022 कब है, कितना तारीख को है, जानिए karva chauth pooja पहली बार कैसे ।

करवा चौथ 2022 के किस तारीख को मनाया जाएगा और पूजा करने की शुभ मुहूर्त क्या है इस पहला karwa chauth कैसे करें बताइए गए हैं,तो जानिए Happy karwa chauth


हिंदू समाज धर्म में लाखों पूजा व्रत पाठ किए जाते हैं, जिनमें से करवा चौथ का पूजा भी शामिल है पर karwa chauth 2022 और सुहागिन महिलाओं के लिए प्रत्येक व्रत और त्योहार बेशक बहुत ही महत्व होता है। किंतु karva chauth pooja का व्रत सबसे ज्यादा महत्व तथा लोकप्रिय होता है, वैसे तो कई बालिकाएं विवाह के पूर्व ही karva chauth ( करवा चौथ का व्रत कर लेती हैं, पर उन्हें यह मालूम होना ही चाहिए कि विवाह के पश्चात का पहला करवा चौथ first karwa chauth अन्य व्रतों से भिन्न होता है, लेकिन फिर भी ना विवाहित महिलाओं के लिए करवा चौथ की पूजा बेहद आवश्यक पूर्ण होता है। वही karwa chauth 2022 को कब होगा के साथ में karva chauth ki puja date kya है के बारे में यदि आप जानने को बेसब्री से इंतजार कर रहे थे । तो जानिए करवा चौथ कितना तारीख को है 2022 Me के साथ-साथ ।


Happy karwa chauth gift for wife और karva chauth special कैसे करें के अलावा करवा चौथ की रात को पति-पत्नी क्या करते हैं। तो दोस्तों करवा चौथ 2022 इंफॉर्मेशन को इत्मीनान रखकर हर एक पैराग्राफ को जरूर रीड करें ताकि आपको 2022 me karva chauth kab hai ? 2022 में करवा चौथ किस दिन है ? karwa chauth sargi पूजा विधि मुहूर्त क्या है? करवा चौथ पूजा करने का समय कितना बजे है? से संबंधित सवालों के जवाब ।


करवा चौथ कब है 2022 का तारीख | karva chauth 2020 Date & Tarikh .



हिंदू त्यौहार पंचांग के अनुसार इस बार 2022 में करवा चौथ का पर्व की तारीख और महीना है। 13 तारीख 2022 अक्टूबर जोकि अक्टूबर 13 को रात के समय 1:59 पर करवा चौथ 2022 का त्यौहार प्रारंभ हो जाएगा । एवं अक्टूबर 14 को प्रातः काल 3:08 तक रहेगा । अतः करवा चौथ 2022 में अक्टूबर महीने के 13 तारीख को ही निर्जला व्रत रखकर karva chauth ki puja करना होगा ।


तो अब आपने जाना Karwa Chauth 2022 Kab Hai के साथ में what day is karva chauth और करवा चौथ कब पड़ेगा, एवं when is karva chauth celebrated के अलावा करवा चौथ कितना तारीख को है। तो यदि आप करवा चौथ व्रत रख रहे हैं 2022 की, तो इसमें मैंने when does karva chauth start के साथ what time does karva chauth end की टाइम व समय भी बता चुकी हूं एंव karwa chauth 2022 date Time की भी ।



करवा चौथ 2022 में किस दिन है | what day is karva chauth 2022 In Hindi.


 इस साल 2022 में करवा चौथ का पर्व बृहस्पतिवार यानी कि हिंदी में गुरुवार और इंग्लिश में Thursday को है । जो की बहुत ही बेहतर और शुभ दिन है करवा चौथ की व्रत के लिए ।


आपने यह भी जान लिया कि करवा चौथ कौन दिन है, या 2022 Me karva chauth कौन सा दिन है, यह साथ में कौन सा दिन करवा चौथ का पर्व पड़ेगा के बारे में । 



क्या अविवाहित लड़की करवा चौथ कर सकती है | Can unmarried girl do karva chauth In Hindi.



यदि आपकी शादी या मैरिज नहीं हुई और आप अभी कुंवारी में हीं करवा चौथ 2022 की व्रत पूजा करनी चाहती है । तो कर सकते हैं सर्वश्रेष्ठ गुणकारी पति वर फ्यूचर में पाने के लिए, परंतु यदि आपकी शादी की छेका फलदान शादी मुहूर्त तय हो चुकी है, तो आप अपने होने वाले पति परमेश्वर मंगेतर को चंद्र दर्शन के बाद, वीडियो कॉल यह व्हाट्सएप पिक्चर के माध्यम से करवा चौथ 2022 पूजा व्रत कर सकती है ।

Karva chauth kab hai ki video. 



करवा चौथ 2022 पूजा की शुभ मुहूर्त समय | karva chauth pooja 2022 Best time In Hindi.



यदि आप पहली बार करवा चौथ का व्रत रखने जा रहे हैं, तो इस बार 2022 करवा चौथ की पूजा की शुभ मुहूर्त का समय है, अमृत काल में शुरुआत शाम के 4:08 से लेकर। अंत हो रहा है 13 अक्टूबर को ही शाम 5:50 तक । एवं इसके अलावा अभिजीत मुहूर्त का शुभ समय करवा चौथ की पूजा के लिए समय स्टार्ट हो रहा है, रात्रि के 11:00 बज कर 21 मिनट से लेकर अंत हो रहा है  दोपहर 12:07 पर ।
 

तो यह थी करवा चौथ की पूजा इस टाइम किया जाता है, के साथ में karva chauth 2022 में pooja करने की शुभ समय क्या है के बारे में ।



 पहला करवा चौथ कैसे करें या करवा चौथ पूजन विधि | How to do karva chauth puja 2022 In Hindi.



पहला करवा चौथ और अकेले करवा चौथ का पूजा घर पर करने के लिए, आपको सबसे पहले पूजन कि उस स्थान का चयन करना होगा, जहां पर आप का मुख पूरब दिशा की ओर हो और देवी देवता की तस्वीर की मुख पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए। एवं इसके बाद आपको लकड़ी की छोटी चौकी पर लाल कलर की पूजन वस्त्र बिछा लेना है और उस पर एक प्रतिमा या फोटो शिव भगवान परिवार की रखने के बाद बगल में उसी चौकी पर, करवा चौथ की पूजन की एक और तस्वीर रखें जिसमें माता करबा हो सूर्य देव हो । और चंद्रमा के साथ में सात भाई बहनों वाली तस्वीर को रखें और साथ ही करवा चौथ की पाठ पढ़ने के लिए करवा चौथ व्रत की पुस्तक अवश्य रखें।


इतना करने के बाद Karva Chauth ki Pooja के लिए उपस्थित की गई आपके द्वारा सभी सामान को, आप सर्वप्रथम गंगाजल छिड़क कर सभी सामानों की शुद्धि जरूर करें,  साथ ही तस्वीर और अपने आप पर गंगाजल को तीन बार छिड़ककर शुद्धि कर ले। इपना करने के बाद आप उस चौकी पर के स्थान पर दो अष्टदल कमल पीले या सफेद अक्षत की मदद से बना ले। और उन दोनों में से एक बार कलर्स की स्थापना कर ले और दूसरे पर पीतल की दिए मे धी डाल कर दिए को स्थापित कर दें।


दोस्तों कलश स्थापित करने से पहले कलश में एक छोटा सा हल्दी की गठी, एक सुपारी, धुर्वा, अक्षत, एक सिक्का दो लॉन्ग और दो इलायची को शामिल करके कलर्स में सुंधा जल डालकर इन सभी सामग्री को भी कलश के अंदर रख दे, और उसके ऊपर पान की नप्लव रखने के बाद आपको उसके ऊपर श्रीफल रखें । जोकि जिसे बनाने के लिए आपको एक नारियल के ऊपर लाल कलर की गेरुआ वस्त्र की वस्त्र लपेटी हुई होनी चाहिए। और पीले कलर की डोर से बंधी हुई होनी चाहिए और कलश पर स्थापित करते समय उसकी तीनों नेत्र आपकी और मुड़ी हुई होनी चाहिए ।


करवा चौथ की पूजा के लिए दीया की स्थापित करने के लिए आपको दिए को प्रज्वलित कर लेना है, और दिए का मुख अपनी ओर कर लेना है, ना कि करवा माता की तस्वीर की ओर रखना है ।


दोस्तों करवा चौथ की पूजा कैसे करी जाती है कि आधी जानकारी आपने इतने पैराग्राफ पढ़ने के बाद जान चुके हैं, की How to do karva chauth pooja at home In Hindi आइए चलिए अब मैं आपको करवा चौथ की पूजा विधि पूरा कैसे करते हैं के बारे में भी पूरी जानकारी बताते हैं।


करवा चौथ की पूजा विधिवन पूर्वक करने के लिए अब आपको सर्वप्रथम श्री गणेश जी की पूजा करनी होगी। जो कि मैं पहले ही बता चुकी हूं की भगवान शिव की परिवार की एक प्रतिमा रखना होता है, और जिस में भगवान श्री गणेश जी अवश्य शामिल होते हैं। तो आपको सर्वप्रथम विधिवत पूर्वक करवा चौथ की पूजा करने के लिए । सबसे पहले भगवान श्री गणेश जी की पूजा करना है उसके लिए आपको एक पान का पत्ता जोकि गंगाजल से शुद्ध की हुई होनी चाहिए, उस चौकी पर रखना है और उस पर पी पी ले अच्छा एवं कुछ फूल का चढ़ावा चढ़ा कर उसके ऊपर एक छोटी सी सुपारी में अच्छी तरह लाल कलर की कलावा को लपेट कर उन्हें गणपति मानकर उस पर स्थापित कर दे।



करवा चौथ की पूजा करने के पहले गणेश जी की अब पूजा आप करें उसके लिए। आप सर्वप्रथम आपके द्वारा स्थापित की गई छोटी सी की सुपारी जैसे आपने गणपति मान करा स्थापित किए थे, उसी पर आपको पीला चंदन अर्पित करना है, लाल सिंदूर अर्पित करना है कुमकुम अर्पित करना है, अच्छत अर्पित करना है, पुष्प का हार अर्पित करना है, दूर्वा अर्पित करना है, रक्षा सूत्र कलावा वस्त्र के रूप में अर्पित करें एवं भोग के लिए मीठी चीनी से बने सामग्री के चढ़ावा चढ़ाए, और अंत में अब आपका करवा चौथ पूजा करने से पहले भगवान श्री गणेश जी की पूजा विधिवत पूर्वक कर चुकी है ।


अब बताते हैं कि करवा चौथ की पूजा करने की, तो दोस्तों अब आप ने जो भी तस्वीर या प्रतिमा चौकी पर रखी है। उन सभी देवी देवताओं को पीले चंदन का टीका लगाएं पर लेकिन भगवान शिव को सफेद कलर की चंदन का टीका लगाएं और करवा चौथ की पढ़ने वाली पाठ की किताब में शामिल देवी देवताओं को भी टीका जरूर लगाएं । इसके बाद सिंदूर लगाएं और पीले अक्षत सभी देवी देवताओं पर चढ़ाएं लेकिन भगवान शिव पर सफेद कलर का अक्षत चढ़ाएं एवं ध्यान रहे आपने जो कलश स्थापना की थी। उनकी पूजा भी इसी तरह सभी सामग्री को चढ़ा कर जरूर करें और इसके बाद एक पान के पत्ते पर सुपारी एकद्रव्य अक्षत लॉन्ग और इलायची सभी देवी देवताओं के आवाहन के नाम पर चौकी पर रख दीजिए । अब आप जो भी सामग्री देवी देवताओं को अर्पित करना चाहते हैं वह अब आप अर्पित कर सकते हैं। जैसे कि वस्त्र लाल कलर की एवं माला धुर्वा पुष्प और भगवान शिव के लिए बेलपत्र । 


दोस्तों आपसे जो भी चीज जो भी सामग्री बन पड़े आप उन सभी सामग्री को समर्पित कर सकते हैं। इसके बाद बारी आती है, करवा भरने की जानकारी और करवा चौथ में करवा की पूजा कैसे करें के बारे में ।



करवा चौथ में करवा की पूजा कैसे करें या करवा कैसे भरें ।



करवा चौथ में करवा की पूजा करने के लिए आपको दो करवा लेना है। जिसमें की एक करवा आपकी होगी और दूसरी करवा माता पार्वती की होगी, अब उन दोनों को अष्टदल कमल बना कर दोनों करवा को स्थापित कर दें। और दोनों करवा की विधिवत पूर्वक पूजा कर ले । करवा भरने के लिए आप दोनों करवा में आपको सुखे पंच मेवे डालना होता है, उसके बाद दोनों करवा के ढक्कन लगाकर उनके ऊपर पीले दाने के लड्डू रखकर करवा के दोनों करवा में 4-4 सिक लगाकर करवा भरना संपूर्ण होता है ।


दोस्तों जब आप करवा चौथ में करवा की पूजा और  करवा भर ( करवा ko bharane ke liye कहीं-कहीं Jagah per sukhe gehun Bhi Karva Mein Bhara jata hai ) ले तब इसके बाद । आपको करवा चौथ की पूजन संपन्न करने के लिए करवा चौथ की पाठ वाली किताब पढ़ना होता है, करवा फेरना  होता है । तो आइए जानते हैं कि करवा चौथ में करवा कैसे फेरना हैं।


करवा चौथ की पूजा में करवा कैसे फेेरते हैं ।



करवा चौथ में करवा फेरने के लिए दो करवा होता है। जिनमें से एक करवा दाई ओर की आपकी होती है, दूसरी करवा वाई ओर की माता पार्वती की और दोनों को ध्यान से दोनों हाथों से पकड़ कर ऊपर की ओर ले जाते हुए । सात बार घुमाना होता है, जिसमें की आपकी करवा माता पार्वती के करवा के अस्थान पर चला जाता है,  माता पार्वती की करवा आप के स्थान पर चला आता है। इस बीच आपको अपना करवा को ध्यान में रखना होता है, और करवा फेेरते समय आपको मां मुझे सुहाग दे की वंदना करते हुए फेरना है ।



करवा चौथ में करवा में रखें प्रसाद को किसे खाना होता है ।



दोस्तों करवा चौथ में करवा के अंदर रखे गए दोनों करवा के प्रसाद को अलग-अलग लोग के लिए होता है। जिनमें से एक जोकि माता पार्वती का करवा होता है, तो उस करवा की प्रसाद को आप की जेठाईन या आपके ससुराल वाले लोग खाते हैं। और दूसरी गरबा जो आपकी होती है, उसे आप या आपके पति आपके बच्चे करवा चौथ की पूजा होने के बाद उसके कल होकर खाते हैं ।



करवा चौथ की पूजा का अंत कैसे करें ।



करवा चौथ में करवा माता की पूजा पाठ और सामग्री अर्पित करने के साथ करवा भरने से लेकर करवा की पूजा करने और करवा चौथ की पाठ पढ़ने तक की पूरी प्रक्रिया करने के बाद । करवा चौथ का चांद की पूजा अर्चना करने के बाद छलनी मैं दिए रहकर चांद को देखने के बाद अपने पति को देखना होता है और पढ़िए अंत करवा चौथ का पूजा संपन्न होता है ।


तो दोस्तों अब आप लोगों को यह मालूम हो चुका है कि करवा चौथ पूजा अकेले कैसे करें हिंदी में और ( How to do karva chauth puja alone in Hindi ) करवा कैसे फेरते हैं, की पूजन विधि के बारे में चलिए आइए और भी करवा चौथ से संबंधित कुछ सवालों के जवाब हम आपको यहां बताते हैं । ताकि आप को करवा चौथ की पर्व त्यौहार कैसे मनाते हैं की पूरी जानकारी मेरे द्वारा प्राप्त हो सके ।



करवा चौथ पर पति को पत्नी को क्या गिफ्ट देना चाहिए |  karwa chauth gift for wife In Hindi.



karwa chauth gift for wife की बात करें तो दोस्तों करवा चौथ के दिन पति पत्नी को सुहाग के संबंधित कोई सामग्री गिफ्ट के रूप में प्रदान कर सकता है । या फिर अपनी पॉकेट कि बजट के अनुसार उन्हें कोई भी अच्छी सी सोने, चांदी, फाइबर, एल्युमिनियम से बने कोई भी प्रोडक्ट दे सकता है । आप चाहे तो करवा चौथ के दिन अपने पत्नी को गिफ्ट के रूप में कुछ पैसे भी दे सकते हैं।  ताकि वह अपनी पसंदीदा अनुसार कोई पहनने की साड़ी या सूट खरीद सके।



तो आपने यह भी जान लिया कि what should i gift to my wife on karva chauth के बारे में के साथ मैं अपने पत्नी को करवा चौथ के दिन क्या गिफ्ट में दूं ।


 करवा चौथ का व्रत कैसे तोड़ें जाते हैं | How to break karva chauth fast In Hindi.


करवा चौथ की पूजा अर्चना संपन्न पूरी तरह होने के बाद, चंद्रमा की पूजा कर के पति की पूजा करने के बाद उनके ही हाथों से जल पीकर करवा चौथ का व्रत तोड़ा जाता है।



करवा चौथ थाली में क्या होना चाहिए | what should be in karva chauth thali In Hindi.



करवा चौथ के दिन चंद्रमा की पूजा करते समय करवा चौथ की थाली में आटे की दिया, छलनी, फ्रूट, मिठाई और दो करवा में जल होना चाहिए, और करवा की पूजा करते समय करवा की थाली में पूजा की सभी सामग्री होने के साथ सुहाग की सभी सामग्री होना जरूरी है । क्योंकि करवा चौथ के दिन आप अपने सुहाग के लिए ही पूजा करते हैं।


करवा चौथ में क्या-क्या लगगे सामग्री ।



करवा चौथ की पूजा में लगने वाली सामग्री कुछ इस प्रकार है जिसमें कि आपको रोली, अक्षत, चावल, हल्दी, सिंदूर, गंगा जल, लकड़ी की चौकी, आटे की अठावरी, शुद्ध जल, पीतल और माटी की दीपक, रोई, तांबे के लोटे, गरबा और करवे की ढक्कन, शहद, दही, देसी घी, कच्चा दूध, कुमकुम, चंदन, अगरबत्ती, पंचमेवा, हलवा, दूर्वा, सुरक्षा धागा, चुनरी और वस्त्र एवं कुछ दान देने की पैसे लेना होगा ।


तो दोस्तों यह थी संपूर्ण जानकारी Karva Chauth 2022 main kab hai और Karva Chauth Puja kaise karen करें बताइए के बारे में साथ ही Karva Chauth Mein Karva kaise ferte Hain की जानकारी । तो यदि आपको इस करवा चौथ पूजा के बारे में दी गई इंफॉर्मेशन पसंद आई हो । तो आप उन सभी लोगों को करवा चौथ की व्रत की पूजा सामग्री की शॉपिंग करने के लिए मदद कर सकते हैं। ताकि वह सभी लोग भी अपनी सुहाग के लिए करवा चौथ की पूजा विधिपूर्वक सभी सामग्री को शामिल करके अच्छी तरह करवा चौथ 2022 की पूजा कर सकें।


पोस्ट लेखक : अमृता सिन्हा
पोस्ट पब्लिशर : मोमेंट मेहरा

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं

  1. To insert a code use <i rel="pre">code_here</i>
  2. To insert a quote use <b rel="quote">your_qoute</b>
  3. To insert a picture use <i rel="image">url_image_here</i>
गलत शब्दों वाले Comments नहीं करें ।